इंस्टाग्राम की सफलता की कहानी instagram success story in hindi

इंस्टाग्राम की सफलता की कहानी

Spread the love

इंस्टाग्राम की सफलता की कहानी जानना इसलिए जरूरी है ,की सभी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर इंस्टाग्राम सबसे टॉप पर है ! इंस्टाग्राम की सफलता की कहानी इसलिए भी जानना जरूरी है ,क्योंकि इंस्टाग्राम सेलिब्रिटी भी काफी ज्यादा इस्तेमाल करते है !

६ अक्टूबर २०१० को एक ऐसा अप्प लांच हुआ ! जिसने सोशल मीडिया की दुनिया ही बदल डाली जिसका नाम है ,इंस्टाग्राम !

तो आज हम जानने वाले है इंस्टाग्राम की सफलता की कहानी और इंस्टाग्राम के बारे में कुछ दिलचस्प बातें !

इंस्टाग्राम क्या है और इंस्टाग्राम किसने बनाया

इंस्टाग्राम क्या है और इंस्टाग्राम किसने बनाया

आपको बता दू , इंस्टाग्राम एक सोशल डिजिटल फोटो शेयरिंग App है ! इंस्टाग्राम को केविन सिस्ट्राम ने ६ अक्टूबर २०१० को लांच किया ! जिसका का मुख्य उद्दिष्ट था फोटो को अधिक सुन्दर बनाना और फोटो शेयर करना ! इंस्टाग्राम को अब फेसबुक चलाता है । जिसे फेसबुक ने केविन सिस्ट्राम से खरीद लिया है !

आपको जानकर शायद हैरानी होगी की ,केविन सिस्ट्राम अमेरिकन कंपनी नेक्स्टस्टॉप में मार्केटिंग डिपार्टमेंट में काम करते थे ! उनके पास तो न कोई प्रोग्रामिंग रिलेटेड डिग्री थी ! न वह एप्लीकेशन डेवेलोपमेंट के बारे में जानते थे ! फिर भी सिखने की चाहत ने उन्हें इस मुकाम तक पंहुचा दिया !

इंस्टाग्राम का पुराना नाम क्या था

आपको तो पता ही है ,इंस्टाग्राम एक काफी पॉपुलर नाम है ! जिसे हर कोई अपनी जुबान पर रखता है ! लेकिन क्या आपको पता है की इंस्टाग्राम का पुराना नाम क्या था ! तो दोस्तों आपको जानकर हैरानी होगी की , इंस्टाग्राम का पुराना नाम बर्बन था ! मुझे पता है यह दिलचस्प बात आपको आज ही पता चली होगी ! इंस्टाग्राम की सफलता की कहानी में आगे भी मै आपको ऐसेही कुछ रोचक बातें बताने जा रहा हु !

इंस्टाग्राम की सफलता की कहानी विस्तार से

इंस्टाग्राम की सफलता की कहानी

उनका अगर फॅमिली बैकग्राउंड की बात करे तो ! इंस्टाग्राम के संस्थापक और सीईओ केविन सिस्ट्रोम का जन्म 30 दिसंबर 1983 में हुआ था ! इनकी मां जिपकार की मार्केटिंग एग्जुक्यूटिव थीं। पिता टीजेएक्स कंपनी के एचआर डिपार्टमेंट के वाइस प्रेसीडेंट थे !

आपको तो पता ही है की ,इंस्टाग्राम के फाउंडर केविन सिस्ट्राम को कोई भी प्रोग्रामिंग नॉलेज नहीं थी ! न उन्हें एप्लीकेशन डेवेलोपमेंट के बारे कुछ पता था ! वह स्कूल के वक्त से ही प्रोग्रामिंग में दिलचस्ती लेते थे ! उन्होंने आगे चलकर उनकी प्रोग्रामिंग सिखने की भूक और बढ़ गयी !

एक बार तो उन्होंने आपने दोस्तों के मेसेंजर अकाउंट हैक करने का प्रोग्राम डेवेलोप किया ! आगे चलकर उनकी माँ ने उन्हें प्रोत्साहित किया ! उनका जो आगे चलकर जॉब था वह टेक्नोलॉजी से काफी अलग था ! उन्होंने तो एक बार कॉलेज में कंप्यूटर साइंस को चुना था ! लेकिन आगे उन्होंने मैनेजमेंट साइंस को चुन लिया ! फॅमिली बैकग्राउंड के कारन उन्होंने यह किया था !

उसके बाद अपनी शिक्षा ख़तम करके वह केविन सिस्ट्राम अमेरिकन कंपनी नेक्स्टस्टॉप में मार्केटिंग डिपार्टमेंट में काम करने लगे ! लेकिन जब भी वक्त बच जाता वह , प्रोग्रामिंग सीखते रहते थे !ज्यादातर वह रात में ही प्रोग्रामिंग सीखते थे ! सीखते-सीखते उन्हें प्रोग्रामिंग की अच्छी जानकारी हो गयी !

बर्बन नाम का एप्लीकेशन बनाया

अब तो उन्हें प्रोग्रामिंग की भी थोड़ी बहुत नॉलेज हो चुकी थी ! तो इसीसे उन्होंने बर्बन नाम का एक प्रोग्राम बनाना शुरू कर दिया ! जिसे इंस्टाग्राम का पुराना नाम से भी जानते है ! जब बर्बन प्रोग्राम बनाया गया तो वह काफी अच्छा नहीं था !

फिर आगे चलकर समय के साथ उसमे वह सुधर ते गए ! अब बर्बन प्रोग्राम काम करने लायक बन गया था ! तो उन्होंने इसे लोगो तन पहुंचाने की सोच ली ! इसकी लोकप्रियता के लिए जब भी वह बड़े लोगो से मिलते या फिर पार्टी में जाते थे ! तब अपने बर्बन प्रोग्राम के बारे में जरूर बताते थे !
आखिरकार उनकी मेहनत रंग ले आयी ! और उनकी मेहनत को दुनिया के सामने लेन के लिए उन्हें बेसलाइन और एंडरसन हर्वित्ज नाम की कंपनियों का साथ मिला ! इन कंपनीस ने लगभग ५ लाख डॉलर का निवेश किया ! अब बरी थी बर्बन को बढ़ाने की इसी लिए केविन सिस्ट्रोम ने अपनी नौकरी को अलविदा कर दिया !

बर्बन को इंस्टाग्राम का रूप दिया

आगे चलकर उन्होंने माइक क्रिगर के साथ मिलकर यह प्रोग्राम आगे बढ़ाया ! इन दोनों ने आगे चलकर HTML-५ की मदत से बर्बन को इंस्टाग्राम का रूप दे दिया ! यह दौर था कैमरा वाले मोबाइल का ! उस वक्त कमरा वाले मोबाइल की डिमांड काफी ज्यादा थी ! जो लोक बर्बन का इस्तेमाल कर रहे थे ,वह सीधे मोबाइल से फोटो खींचकर बर्बन पे डालते थे ! कुछ दिनों बाद उन्होंने बर्बन में फिरसे परिवर्तन किये और इसे वेबसाइट के जैसा डिज़ाइन कर दिया ! यही तो यह मोड था जब बर्बन की सफलता की कहानी शुरू होने वाली थी !

अब बर्बन इंस्टाग्राम का रूप तो ले चूका था ! लेकिन अभीतक इसका नाम बर्बन ही था ! उन्होंने इसे समय के साथ-साथ और भी यूजर फ्रेंडली बनाया ! तब बर्बन में ३ ही ऑप्शन दिए गए ,जिसमे सिर्फ फोटो शेयरिंग ,कमेंट और लाइक था ! अब उन्होंने बर्बन का नाम बदलकर इंस्टाग्राम कर दिया !

इंस्टाग्राम की स्थापना

इंस्टाग्राम की सफलता की कहानी

अब वक्त था २०१० और इंस्टाग्राम ने इंटरनेट पर एंट्री कर ली थी ! ६ अक्टूबर २०१० वह दिन था जब इंस्टाग्राम की शुरुवात हो गयी ! अब इसे स्टोर पे डाला गया ! यह वह भी काफी पॉपुलर हो गया ! इसे ३ महीने से काम समय से ही १० लाख से अधिक यूजर ने इनस्टॉल कर लिया ! आगे चलकर इसे गूगल प्ले स्टोर पे भी डाला गया ! इसके बजे से इंस्टाग्राम के यूजर काफी बढ़ गए !इसकी बढ़ती हुई लोकप्रियता देखते हुए ! इंस्टाग्राम को फेसबुक के संस्थापक मार्क ज़ुकेरबर्ग ने २०१२ में १०० करोड़ डॉलर में खरीद लिया ! इसे बिग डील के नाम से भी जाना जाता है !

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *